Mens Planet News
News Hindi

पैसा और शारीरिक संबंध के लिए पूर्व पत्नी ने नविवाहिता का कत्ल किया

मुम्बई के नालासोपारा मे चौकाने वाला कत्ल का मामला सामने आया, जिसमे की सौतेले रिश्तेदारों ने मिलकर वारदात को अंजाम दिया.

इस पूरे वारदात में परिवार के लोगों ने हीं साथ मिलकर नवविवाहिता का कत्ल किया. कत्ल मे मुख्य आरोपी पार्वती माने और दो सौतेली बेटियाँ भी शामिल थी.

मीडिया सूत्रों के मुताबिक, पार्वती सुनील मिश्रा की दूसरी पत्नी है, और सुनील की पहली पत्नी की दोनों बच्चियाँ, पार्वती के साथ हीं रहती थी. पहली पत्नी उत्तर प्रदेश में रहती है.

पार्वती ने जाँच अधिकारी को बताया कि, सुनील पार्वती के साथ शारीरिक संबंध के लिए मना करता था साथ ही वो बच्चियों के भरण पोषण के लिए भी पैसे नहीं देता था. पार्वती ने सुनील पर आरोप लगाया कि वह अपनी नयी पत्नी के सामने हीं पार्वती की बेइज्जती करता था.

सुनील मिश्रा, 45 ठेके पर मजदूरी का काम करता है, और अभी बीते साल ही सुनील ने योगिता देवरे से शादी कर, देवरे के साथ उसी के घर में रह रहा था. योगिता और देवरे दोनों हीं नालासोपारा मे रहते थे.

पुलिस ने बताया कि, वारदात पहली मार्च को जब सुनील शादी में शामिल होने के लिए अहमदाबाद गया उसके बाद हुई. सुनील के जाने के बाद, पार्वती और सुनील की पहली पत्नी की दोनों बेटियों और इनमें से एक के दोस्त सुनील काले के साथ योगिता के अपार्टमेंट में घुस आए. अंदर आने के बाद पहले इन्होने अपार्टमेंट के गार्ड को शराब पिला कर मदहोश कर दिया, और उसके बाद ड्यूप्लिकेट चाभी से योगिता के घर में प्रवेश कर योगिता को सोई हुई अवस्था में कत्ल कर दिया.

TOI के अनुसार, कत्ल करने के बाद, उन्होने दूसरी बेटी के दोस्त नीरज मिश्रा को बुलाया जो कि रिक्शा चालक है. नीरज को बताया कि योगिता की तबीयत खराब होने के कारण अस्पताल ले जाना है. नीरज इस घटना से बेखबर वो कंबल मे लिपटे योगिता को ले गया. रास्ते में हीं सुनसान जगह पर, अस्पताल ढूंढने मे बहाना बनाकर नीरज को वापस जाने बोल दिया. उसके जाने के बाद चारों ने मिलकर योगिता को वहीं ठिकाने लगा दिया.

शुरुआत में मृतक की पहचान नहीं हो पायी थी, परंतु आसपास के CCTV फ़ुटेज देखने से एक ऑटो रिक्शा के पीछे “Janvi” लिखा मिला, और येही हत्या की गुत्थी को सुलझाने में अहम भूमिका निभाई. क्राइम ब्रांच ने लगभाग 4000 रिक्शा की तलाशी कर सुनील के रिक्शे को ढूंढ निकाला.

इस लेख को अन्य स्रोत से प्राप्त किया गया है और “मेंस प्लानेट न्यूज” लेख की विश्वसनीयता, निर्भरता और डेटा के लिए जिम्मेदारी या दायित्व नहीं लेता है. इस लेख की जानकारी केवल सूचना के उद्देश्य के लिए है.

Related posts

केन्द्रीय मंत्री का बयान “पप्पू की पप्पी”, सोशल मीडिया पर हुए ट्रॉल

Editor

फर्जी रेप केस में लड़की को 3 साल की सजा

Editor

किरन बेदी के दामाद को पुलिस उनके आवास से अपनी ही बेटी को अगवा करने के जुर्म में गिरफ्तार कर आधी रात को छोड़ा

Editor

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More